Sunday, February 25, 2018

People Who Look Like Exactly Cartoon Animation Characters

नमस्कार दोस्तों आज में आपको 5 ऐसे लोगो के बारे में बताने जा रहा हूँ। जो रियल लाइफ में एनीमेशन मूवी के करैक्टर जैसे लगते है। जिन्हें सामने देखकर लोग हैरान रह जाते है। वही कुछ लोगो को तो इनसे प्यार हो जाता है। अगर आपने बचपन में भी ऐसा सोचा हो की काश ये princess रियल लाइफ में होती। तो इस वीडियो को लास्ट तक जरूर देखे इसमें आपके लिए कई सारे सरप्राइज होंगे।

Andressa Damani

ब्राज़ील की रहने वाली इस स्टार youtuber को लोग इसके baarbie जैसे लुक के नाम से भी जानते है। Andressa का कहना है की उसने barbie जैसा दिखने के लिए कोई भी प्लास्टिक सर्जरी नही करवाई है। वह अपने यूट्यूब चैनल पर अपने जैसा दिखने की beauty टिप्स भी बताती है। जब वो रोड पर घूमने निकलती है। तो लोग इसे barbie से compare करते है।

Anastasia Shpagia
यूक्रेन की रहने वाली इस लड़की को chinese एनीमेशन की कार्टून जैसा दिखना था। और ऐसा दिखने में वो कुछ हद तक कामयाब भी हो गई। इसके बाद तो Anastasia अपने लुक के कारण पुरी दुनिया में फेमस हो गई। यहां तक की लड़के इसे देखने के लिए महीनो तक रोड पर खड़े रहते है। लेकिन में आपको बता दू की anastasia को ऐसा दिखने के लिए कई सारी सर्जरी भी करवानी पड़ी। इसके बाद भी उसे अपने चेहरे पर काफी सारा मेकअप करना पड़ता है। जिसके बाद ही वो ऐसी खूबसूरत दिख पाती है।

Valeria lukyanova
इसे दुनिया की पहली इंसानी डॉल होने के लिए भी जाना जाता है। जोकि बिलकुल बच्चों जैसी गुड़िया दिखाई देती है। इसने अपनी आँखों की सर्जरी इस वजह से करवा ली ताकि उसकी आँखे भी डॉल की तरह बड़ी लगे। और वह चाहती है की इसे कभी भी जिन्दा रहने के लिए खाने की और पानी की जरूरत न पड़े।
दोस्तों क्या लोगो का खूबसूरती के लिए अपने चेहरे की प्लास्टिक सर्जरी करवाना सही है अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर दे

 Pixee fox
Pixee फॉक्स हमेशा से ही एनिमेटेड मूवी के जैसा दिखना चाहती थी। जिसके लिए उसने 8 करोड़ रुपये barbie दिखने के लिए खर्च कर दिया। इतना ही नही fox ने अपनी कमर की 6 हड्डिया भी निकलवा दी ताकि उसकी कमर पतली दिख सखे।

Justin जेडलीसा
17 साल की उम्र तक जस्टिन अपने आप से काफी खुश था। लेकिन जब उसे पता चला की उसकी gf को उससे ज्यादा उसकी डॉल से प्यार है। एक के बाद एक कई सारी सर्जरी करवाई ऐसा उसने 170 बार किया। और वो आगे भी सर्जरी करवाना चाहता है


Inspirational Story For Every Dreamer, Students, Businessman

पानी को जब हम गर्म करते है तब तामान बढ़ता जाता है। और 211 डिग्री तक पानी गर्म होता है।
लेकिन जैसे ही पानी 212 डिग्री पहुंचता है वो उबलना शुरू हो जाता है। और जब वो उबलता है। तो Steem बनती है। और व्ही steem बड़े बड़े ingines को चला देती है। चाहे फर्क सिर्फ 1 डिग्री का हों। लेकिन वो एक डिग्री सबकुछ बदल देती है।
वेसे ही ऐसा कई बार होता है जब हम अपने सपनो के लिए मेहनत कर रहे होते है। अपने सपनो के लिए लड़ रहे होते है। कई बार मन भटकता है। की हम रहने देते है। हम खुद को समझाना शुरू कर देते है। की अब और कोशिश नही करनी चाहिए।
लेकिन
दोस्तों कामियाबी का 2012 डिग्री भी हमे समझना होगा।
हहालाकि हमारी मेहनत का result हमे daily नही मिलेगा लेकिन हमारी हर रोज की महंत हमे उस रिजल्ट की तरफ लेकर जायेगी।
आप चाहे कुछ भी कर रहे हो और आपका सपना कुछ भी हो लेकिन आपके daily किये जाने वाली मेहनत आपको लेकर जायेगी आपने सपने की तरफ। उस कामियाबी की तरफ जहाँ तक पहुंचते ही सबकुछ बदल जायेगा। क्योकि एक रात में कामियाबी उन्ही को मिलती है। जो उस कामियाबी के लिए कई राते जागे होते है।
एक running रेस के wining लाइन तक पहुंचने में उस रेस को जितने में सिर्फ seconds का फर्क होता है लेकिन उसके लिए पहले काफी महनत करनी पड़ती है।
business में जित वाला दिन वही देखता है। जो उस दिन के लिए कई दिनों से मेहनत कर रहा होता है।

Exams में सिर्फ कुछ % से कोई टॉप कर लेता है। लेकिन वो तभी होता है। जब वो रातो अपनी नींद छोड़करर पढ़ाई करता है।
रातो रात कामियाबी के पीछे कई राते होती है। 2012 डिग्री का सफर होता है। जो आपको समझना पड़ेगा।
और यही 2012 डिग्री का सफर हमे तय करना है बिना रुके बिना थके। so जब भी हिम्मत टूटे तो इसे याद  रखे की चलते रहना जरूरी है। चलते रहेंगे तो मंजिल जरूर मिलेगी।
दोस्तों 12 डिग्री तक कदम बढ़ाते रहो। अपने सपनो के लिए काम करते रहो Jai Hindi Vande Matram Best Of Luck

Those People Who Became Famous Like Priya Prakash Varrier


हलो और नमस्कार दोस्तों आज मै आपको बताने जा रहा कुछ ऐसे लोगो के बारे में जो priya prakash Varrier की तरह रातो रात सोशल मीडिया पर फेमस हो गए जिनकी लाइफ सोशल साइट्स में हिट होने के कारण पूरी बदल गई। तो चलिए शुरू करते है।
Shurlie shatiya
ये 22 साल की लड़की भी कुछ साल पहले इंटरनेट पर सेंसेशन बन गई थी। shurlie ने अपनी ग्रेजुएशन न्यूज़ीलैंड में की थी। और इसके बाद वो सिंगर बनना चाहती थी। लेकिन जब उन्होंने अपनी एक छोटी सी क्लिप यूट्यूब पर डाली वो रातोरात स्टार बन गई। आज sharlie एक बड़ी singer और youtuber हैं।
अरशद खान
पाकिस्तान में रहने वाले अरशद खान ने कभी सोचा भी नही होगा की एक ही दिन में उसकी लाइफ बदल जिएगी। जब अरशद को एक व्यक्ति ने देखा।  तो उसने उसकी फ़ोटो इंस्टागराम पर डाल दी। और फिर उसकी फ़ोटो वायरल हो गई और उसकी नीली आँखों को देखकर लडकिया उसकी दीवानी हो गई। कई लडकिया ने तो उसे ऑनलाइन प्रोपोज़ भी कर दिया और बड़ी बड़ी कंपनीयो ने उसे मॉडलिंग के ऑफर भी दिए। आज अरशद के पास वो सबकुछ है जिसके बारे में उसने सपने में भी नही सोचा होगा।
Sayma
जब शारुख खान अपने fans के साथ फ़ोटो ले रहे थे। तब उनके पीछे खड़ी एक लड़की ने लोगो का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित किया। लोगो उस फ़ोटो को लेकर शारुख खान से ज्यादा उस लड़की के बारे में बात करने लगे। यहां तक की लोगो ने उसे मूवी में try करने के लिए भी कहा।

Dhinchak Pooja
यूट्यूब के गाने की वजह से फेमस होने वाली पूजा को ये भी नही पता होगा की वो एक गाने की वजह से पूरी इंडिया में फेमस हो जायेगी। उसके वीडियो को करोड़ो लोगो ने यूट्यूब पर देखा। यहां तक की bigg boss11 में उसे बुलाया गया जोकि इंडिया की first youtuber है। जोकि biggbos के घर में जा सखी।

। दोस्तों अगर आप हमारे चैनल पर नये है तो हमे सब्सक्राइब करके bell के आइकॉन पर क्लिक करे

Difference Between CID Or CBI In Hindi

दोस्तों आज की ये वीडियो में उन लोगो के लिए लाया हु जो ये जान्ने के लिए ज्यादा exited है की cID और cbi में क्या अंतर होता है

ये दोनों ही टर्म सुनने में बहुत पावरफुल और आज के यूथ के ड्रीम जॉब हैं | अक्सर लोग ये सोचते हैं कि सीबीआई और सीआईडी सेवाएँ एक ही है | मतलब सीआईडी और सीबीआई दोनों एक ही काम करती हैं | मगर ऐसा नहीं है दोनों में बहुत ज्यादा फर्क है | तो चलिए जानते हैं ।
सबसे पहले हम बात करेंगे CID ....Crime Investigation Department है जो कि एक प्रदेश में अपराध जांच विभाग के रूप में जानी जाती है. CID एक प्रदेश में पुलिस की जांच और खुफिया विभाग होता है | इस विभाग को हत्या, दंगा, अपहरण, चोरी इत्यादि की जाँच के काम सौंपे जाते हैं | CID की स्थापना, पुलिस आयोग की सिफारिश पर ब्रिटिश सरकार ने 1902 में की थी |
अब बात करते है

केंद्रीय जांच ब्यूरो: यानी CBI
मामला अगर राज्य स्तर का हो, तो केंद्रीय जांच ब्यूरो CBI (सीबीआई) से जांच करवाना ज्यादा ठीक रहता है, क्योंकि सीबीआई के अध‍िकारी सीधे-सीधे गृह मंत्रालय को रिपोर्ट करते हैं। राज्य सरकारों का सीबीआई से कोई लेना देना नहीं होता है। मामलों की जांच करने वाली टीम का गठन भी केंद्रीय स्तर पर ही होता है। सी.बी.आई. भारत सरकार की एक ऐसी जांच एजेंसी है जो सीधे केंद्र सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के अन्दर आती है. ये एक प्रमुख जांच एजेंसी है जो भारत की सुरक्षा से जुड़े हुए अलग-अलग मसलों को सुलझाती है| राज्य सरकारें न तो सीबीआई पर कोई प्रभाव डाल सकती हैं और न ही किसी प्रकार का दबाव
सीबीआई की शक्त‍ियां और टीम दोनों ही सीआईडी से कहीं अध‍िक व बड़ी होती हैं। यही कारण है कि लोग बड़े मामलों की जांच सीबीआई से करवाने की मांग करते हैं। एक बार जांच हाथ में आने के बाद सीबीआई को किसी भी मामले की जांच करने के लिये किसी विशेष आदेश की जरूरत नहीं होती। वो किसी भी राज्य में जाकर छानबीन कर सकती है, जबकि सीआईडी अपने ही राज्य तक सीमित रहती है।
CID  और CBI के बीच प्रमुख अंतर
1.  CID  के ऑपरेशन का क्षेत्र छोटा (केवल एक प्रदेश) है, जबकि CBI के ऑपरेशन का क्षेत्र बड़ा (पूरा देश और विदेश) है.
2.  CID के पास जो भी मामले आते हैं उन्हें राज्य सरकार और हाई कोर्ट द्वारा सौंपा जाता है जबकि CBI को मामले केन्द्र सरकार, हाई कोर्ट और सर्वोच्च न्यायलय द्वारा सौंपे जाते हैं.
3. CID राज्यों में होने वाले आपराधिक मामलों जैसे दंगा, हत्या, अपहरण, चोरी और हमले के मामलों सहित राज्य में अन्य आपराधिक मामलों की जांच करता है जबकि CBI राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर के घोटालों, धोखाधड़ी, हत्या, संस्थागत घोटालों, जैसे मामलों की देश और विदेश में जांच करती है.
4. यदि किसी व्यक्ति को CID में शामिल होना है तो उसे राज्य सरकार द्वारा आयोजित की जाने वाली पुलिस परीक्षा पास करने के बाद अपराध-विज्ञान की परीक्षा पास करनी होती है जबकि CBI  में शामिल होने के लिए SSC बोर्ड द्वारा आयोजित परीक्षा को पास करना होगा.

5. CID  की स्थापना ब्रिटिश सरकार द्वारा 1902 में की गयी थी जबकि CBI  की स्थापना 1941 में विशेष पुलिस प्रतिष्ठान के रूप में की गयी थी.

What Happen With Us After Sleeping

आप सभी के मन में हम सभी की नींद को लेकर काफी सारे सवाल आते होंगे की नींद का असर होता क्या है या नींद लेना जरूरी क्यों होता है। या फिर हमारे सोने के बाद हमारे साथ क्या होता है। आज में आपको बताऊंगा ऐसी बातो के बारे में जो हमारे साथ होती है हमारे सो जाने के बाद।
Regeneration
जब हम सोते है तब हमारे शरीर को मोका मिल जाता है की शरीर में जो भी नुक्सान हुआ है उसकी भरपाई की जाये। पुरे दिन में हमारे शरीर में बाहरी और अंदरुनी छोटे लगती है। हमारे शरीर की छोटी छोटी मास्पेसिया टूट जाती है। और हमारे सोने के बाद हमारा शरीर उन सभी मांसपेशियो को बनाने का कार्ये करता है।

चलना या बोलना
हम में से काफी सारे लोगो को नींद में चलने और बोलने की आदत अवश्य होगी। actually जब हम सोते है तब हमारा चेतन मन भी सो जाता है। पर कुछ लोगो के साथ ऐसा नही होता कुछ लोगो का अवचेतन मन सोने के बाद आने वाले सपनो से रिलेटेड एक्टिविटी करने लगता है जिसके कारण कुछ लोग नींद में चलने वो बोलने लगते है पर उन्हें कुछ पता नही होता।

Changes in Height
आपने कई बार सुना होगा की हमारा शरीर सोते हुए बढ़ता है। छोटे बच्चों का विकास भी सोते समय होता है। लेकिन आपको ये नही पता होगा की सोते समय हमारी हाइट आधे इंच तक बढ़ जाती है। लेकिन ये सिर्फ कुछ समय के लिए ही रहती है। क्योकि सोते समय हमारे शरीर पर गुरुत्वाकर्षण का बल सीधा नही पड़ता। इसके मुकाबले जब हम खड़े होते है तब गुरुत्वाकर्षण के कारण हमे निचे की तरफ दबाव पड़ता है।


Data Processing
सोते समय हमारा दिमाग data process करता है। बल्कि पुरे जीवन काल में हमारा अवचेतन मन नही सोता। और जब ये सोता है। तब हम भी हमेशा के लिए सो जाते है। डॉट प्रोसेसिंग से हमारा मतलब है की सोते समय हमारा दिमाग पुरे दिन में हुई गतिविधियों का आंकलन करता है। जिसके कारण हमे सपने आते है। दिन में हमारा mind काबू रहता है क्योकि जब हमारा consious mind पुरे दिमाग पर हावी रहता है। लेकिन नींद ने हमारा unconsious mind हावी हो जाता है।

दोस्तों क्या आपको नींद में चलने की आदत है। अगर हाँ तो हमें कमेंट करके बताये और सब्सक्राइब करे हमारे चैनल साथ ही घण्टी को भी press करे।

Most Dangerous Railway Track In The World

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करेंगे दुनिया के सबसे खतरनाक रेलवे रास्तो के बारे में जो आपके होश उड़ा देगा। दोस्तों वेसे तो आपने कई बार ट्रेन में सफर किया होगा लेकिन क्या आपने कभी ऐसे रेलवे रास्तो पर यात्रा की है जहाँ आपको मोत का सामना करना पड़ा। जी हां दुनिया में ऐसे कई खतरनाक रास्ते है जहाँ लोग अपने डर का सामना करने दूर दूर से आते है। तो चलिए बिना टाइम फोड़े वीडियो को शुरू करते है।
1Aso Minani :- ये दुनिया के सबसे खतरनाक रेलवे ट्रैक में से एक है। क्योकि इस ट्रैक के पास एक ज्वाला मुखी है इसके फटने का डर हमेशा बना रहता है। कुछ सालो पहले इसे बन्द कर दिया गया था क्योकि ज्वालामुखी का लावा ट्रेन की पटरियो पर आ जाता था। और उससे निकलने वाली गैस लोगो के लिए जहर का काम करती थी। फिर भी एडवेंचर को पसन्द करने वाले लोग यहाँ घूमने दूर दूर से आते है।
2.The death Railway ;-
वर्मा रेलवे ट्रैक को डेथ रेलवे भी कहा जाता है। इस रेलवे ट्रैक को बनाते समय 90 हज़ार सेनिको और 14 हज़ार से ज्यादा केदियो की नदी में गिरने से मोत हो गई थी। वेसे कई केदियो ने तो नदी में कूदकर आत्महत्या करली थी। लेकिन फिर भी ये रूट काफी पॉपुलर है। इस ट्रेन में सफर करने वाले लोगो का कहना है की जब ट्रेन यहा से गुजरती है तो उन्हें उन मरे उए लोगो की आत्माए दिखाई देती है।
3.Landvaser viaduct :- लंडवसेर विआडक्ट
रोंगटे खड़े करदेने वाला ये रेलवे Sweaterland में स्थित है जो एक नदी के उप्पर बना हुआ है। इसकी सबसे ख़ास बात है की ट्रेन बिच के बाद सीधा सुरंग में घुस जाती है। और ट्रेन जब बिच से गुजरती है तो ट्रेन के एक तरफ नदी और दूसरी तरफ पहाड़ी नजर आती है। ये रास्ता जितना रोमांचक है उतना ही खतरनाक भी है।

4.Nerij Del Diyalba:-
ये रेलवे सफर दुनिया के सबसे डरावने सफरो में से एक है इसे शैतान की नाक वाली ट्रेन भी कहा जाता है क्योकि ये रास्ता इतने खतरनाक रास्तो से भरा हुआ है जिससे यहाँ हादसा होने का खतरा बना रहता है। लोगो का तो ये भी कहना है की ये उनके द्वारा किया गया सबसे खतरनाक सफर है।
5 Chennai to Rameshwaram;-
ये भारत का ही नही बल्कि दुनिया का सबसे खतरनाक रेलवे ट्रैक है। ट्रेन का समुन्दर के उप्पर से गुजरना काफी खतरनाक लगता है कई बार पानी का स्तर बढ़ने पर ये ट्रेन पानी को चीरते हुए आगे बढ़ती है जो देख पाना किसी भी कमजोर दिल वाले के लिए आसान नही। फिर भी लोग रामेश्वर जाने के लिए इस ट्रेन का इस्तेमाल करते है और अपने डर का सामना करने दूर दूर से आते है। दोस्तों ये थे दुनिया के सबसे खतरनाक रास्ते अगर जानकारी पसन्द आई हो तो हमे सब्सक्राइब कीजिय।

Most Mysterious Shiv Temple In Maharashtra




कैलाश मंदिर एलोरा :
महाराष्ट्र के एलोरा में कैलाश मंदिर आधुनिक टेक्नोलॉजी के लिए एक बड़ा रहस्य है. कई प्राचीन हिन्दू मंदिरों की तरह इस मंदिर में कई आश्चर्यजनक बातें हैं जोकि हमें हैरान करती हैं. हमारे गौरवशाली और अति-विकसित इतिहास के प्रमाण, "कैलास मंदिर" के कुछ रोचक facts है आइये देखते है।

1) किसी मंदिर या भवन को बनाते समय पत्थरों के टुकड़ों को एक के ऊपर एक जमाते हुए बनाया जाता है. कैलाश मंदिर बनाने में एकदम अनोखा ही तरीका अपनाया गया. यह मंदिर एक पहाड़ के शीर्ष को ऊपर से नीचे काटते हुए बनाया गया है.
जैसे एक मूर्तिकार एक पत्थर से मूर्ति तराशता है, वैसे ही एक पहाड़ को तराशते हुए यह मंदिर बनाया गया परन्तु ये कैसे सम्भव है इसका जवाब विज्ञान के पास भी नही है

2) पत्थर काट-काट कर खोखला करके
मंदिर, खम्बे,नक्काशी आदि बनाई गयी. क्या अद्भुत डिजाईन और प्लानिंग की गयी होगी. इसके अतिरिक्त बारिश के पानी को संचित करने का सिस्टम, पानी बाहर करने के लिए नालियां, मंदिर टावर और पुल,
महीन डिजाईन बनी खूबसूरत छज्जे, बारीकी से बनी सीढ़ियाँ, गुप्त अंडरग्राउंड रास्ते आदि सबकुछ पत्थर को काटकर बनाना सामान्य बात नहीं है.

3) आज के वैज्ञानिक और शोधकर्ताअनुमान लगाते हैं कि मंदिर बनाने के दौरान करीब 4,00,000 टन पत्थर काट कर हटाया गया होगा. इस हिसाब से अगर7,000 मजदूर 150 वर्ष तक काम करें तभी यह मंदिर पूरा बना होगा, लेकिन बताया जाता है कि यह मंदिर इससे काफी कम समय महज 17 वर्ष में ही बनकर तैयार हो गया था.

4) उस काल में जब बड़ी क्रेन जैसी मशीने और कुशल औजार नहीं होते थे, इतना सारा पत्थर कैसे काटा गया होगा और मंदिर स्थल से हटाया कैसे गया होगा. यह रहस्य दिमाग घुमा देता है. क्या किसी एलियन टेक्नोलॉजी का प्रयोग करके यह मंदिर बनाया गया ? कोई नहीं जानता मगर देखकर तो ऐसा ही लगता है.

5) माना जाता है कि कैलाश मंदिर राष्ट्रकुल राजा कृष्ण प्रथम ने (756AD-773AD) के दौरान बनवाया था. इसके अतिरिक्त
इस मंदिर को बनाने का उद्देश्य, बनाने की टेक्नोलॉजी, बनाने वाले का नाम जैसी कोई भी जानकारी उपलब्ध नहीं है. मंदिर की दीवारों पर उत्कीर्ण लेख बहुत पुराना हो चुका है एवं लिखी गयी भाषा को कोई पढ़ नहीं पाया है.

6) आज के समय में ऐसा मंदिर बनाने के लिए सैकड़ों ड्राइंगस, 3D डिजाईन सॉफ्टवेयर, CAD सॉफ्टवेयर, छोटे मॉडल्स बनाकर उसकी रिसर्च, सैकड़ों इंजीनियर, कई हाई क्वालिटी कंप्यूटरर्स की आवश्यकता पड़ेगी. उस काल में यह सब कैसे सुनिश्चित किया गया होगा ?

इसका विज्ञान के पास भी कोई जवाब नही है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि आज इन सब आधुनिक टेक्नोलॉजी का प्रयोग करके भी शायद ऐसा दूसरा मन्दिर बनाना असम्भव ही है। आपको क्या लगता है क्या ये मन्दिर किसी दैवीय शक्ति द्वारा बनाया गया होगा। अपनी राय हमे कमेंट करके बताये। और अगर आपको ये वीडियो पसन्द आई हो तो हमे सब्सक्राइब करे और इस वीडियो को अपने दोस्तों को शेयर करे।